दूसरे चरण के एक साथ नामांकन के साथ भारतीय जनता पार्टी की चुनाव तैयारियां रफ्तार पर हैं. अभी तक भाजपा ने सभाओं का शतक बना लिया है. कल 72 सीटों में एक साथ भाजपा के प्रत्याशियों ने पर्चा दाखिल किया और जिस तरह का उत्साह का वातावरण बना है प्रदेश में, उससे डा. रमन सिंह जी की सरकार का भारी बहुमत से जीतना तय हो गया है.
चार नवंबर को भाजपाध्यक्ष श्री अमित शाह जी का आगमन हो रहा है. वे यहां भारतीय जनता पार्टी के संकल्प पत्र जारी करेंगे. पार्टी का संकल्प पत्र बन कर तैयार है. निश्चय ही इस संकल्प पत्र में प्रदेश को विकसित राज्यों में शुमार करने का विजन भाजपा जनता के बीच रखेगी.
चार नवंबर अमित शाह जी इसके अलावा प्रदेश के खुज्जी, कोंडागांव और खैरागढ़ में भारतीय जनता पार्टी के विशाल सभा को संबोधित करेंगे. राष्ट्रीय अध्यक्ष जी की सभाओं की तैयारी में कार्यकर्ता गण जी-जान से जुटे हुए हैं.
इस चुनाव अभियान में भी हमारे यशस्वी प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी की अनेक सभाएं प्रस्तावित हैं. इस 9 नवम्बर को पहला कार्यक्रम आया है मोदी जी का, वे जगदलपुर में ऐतिहासिक आमसभा को संबोधित करेंगे. प्रधानमंत्री जी के कार्यक्रम को अंतिम रूप दिया जा रहा है.
इस बार का चुनाव इस मायने में सबसे खास है कि पहले चरण से पहले ही कांग्रेस पूरी तरह लस्त-पस्त हो गयी है. हार की बौखलाहट में कांग्रेस उल-जुलूल आरोप लगाती, आपस में ही झगडती जा रही है. टेम्पर्ड अश्लील सीडी को बांटने का संज्ञेय अपराध कर आज सीबीआई द्वारा चार्जशीटेड प्रदेश अध्यक्ष के नेतृत्व में कैसी राजनीति हो सकती है, सोचा जा सकता है.
डा. रमन सिंह जी की सरकार का काम वास्तव में देश-दुनिया के लिए एक मॉडल जैसा है. गरीबों के पेट से लेकर किसानों के खेत तक पहुचने का भाजपा सरकार के काम की जितनी भी प्रशंसा करूं, कम है. जहां तक कांग्रेस का सवाल है तो छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की 2003 में पराजय हुई और तबसे लगातार वह दौर से बाहर है. कांग्रेस न तो 3 में रही न 13 में, न 08 में रही और न ही 2018 में में होगी.

प्रदेश के कल से धान खरीदी का त्यौहार शुरू हो चुका है. बड़ी संख्या में मंडियों में किसान अपनी उपज लेकर पहुँच रहे हैं. सभी किसानों को बोनस समेत उनकी उपज का समर्थन मूल्य चैबीस घंटे के भीतर उनके खाते में पहुँच जाना है. ( किसान मोर्चा के पूर्व अध्यक्ष और भाजपा प्रवक्ता संदीप शर्मा ने कल धान बेचने की रसीद भी प्रेस वार्ता में दिखाई)
डा. रमन सिंह जी के कुशल नेतृत्व का ही कमाल है कि अपने निर्माण के समय से आज छत्तीसगढ़ का बजट बढ़ कर बारह गुणा हो गया है. शासन ने किसानों का एक-एक दाना खरीद कर उन्हें तत्काल भुगतान किया है. जहां पहले यहाँ किसानों का धान डूबा-डूबा कर बर्बाद कर देते थे वहाँ आज अनुपूरक बजट प्रस्तुत कर एक वर्ष में केवल बोनस के रूप में 2400 करोड़ रुपया किसानों को मिल रहा है. पिछले वर्ष 2100 करोड़ रुपया बोनस के रूप में दिए गए थे.
प्रदेश की सरकार स्काय योजना के द्वारा माध्यम से 50 लाख मोबाइल बांटा जाना बस्तर और राजनांदगांव जिले के वन्य इलाकों के लिए भी खास कर क्रांतिकारी है. 1600 से ज्यादा नए टावर लगा कर बस्तर के नेटवर्क को मजबूत करना. प्रदेश के आदिवासी इलाकों में  को संचार-तकनीक-रेल-रोड-बिजली-बस्तर नेट आदि के माध्यम से जोड़ा जाना वास्तव में विकास के एक नए युग की तरफ जाना है.
आजतक हमने कांग्रेस से ज्यादा बिखरा और दिशाहीन चुनाव अभियान नहीं देखा. कल के टिकट को ही देख लीजिये, कांग्रेस दो कदम आगे जाती है और चार कदम पीछे खीचती है. जिस दल को अकारण अपना प्रत्याशी तक बदलना पड़े उसके अभियान की कल्पना की जा सकती है.
संयुक्त राष्ट्र संघ की संस्थाओं ने जहां प्रदेश की पीडीएस की तारीफ की, वहीं कृषि कर्मण समेत तीन दर्जन से अधिक राष्ट्रीय-अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कार छत्तीसगढ़ की कहानी को कहते हैं. प्रदेश ने अनेक संकटों और चुनौतियों का सामना करते हुए यह मुकाम हासिल किया है.
भारतीय जनता पार्टी का संगठन सतत गतिशील और स्थायी रूप से जनता के बीच काम करने के लिए जाना जाता है. हम केवल चुनाव के समय ही सक्रिय नहीं होते बल्कि लगातार संगठन और सरकार जनता के बीच होती है. तपती दुपहरी में डा. रमन सिंह जी कभी लोक सुराज के लिए तो फिर विकास यात्रा के नाम प्रदेश के गांव-गांव तक घूम कर अपने कार्यों का हिसाब देते हैं. भाजपा संगठन भी लगातार गतिशील रह कर शासन की योजनाओं को जनता तक पहुचाने में योगदान देता रहा है.

प्रदेश में स्मार्ट योजना के द्वारा 50 हजार तक का मुफ्त इलाज बिना किसी भेदभाव के हर व्यक्ति तक उपलब्ध होना किसी चमत्कार से कम नहीं है. अब प्रधानमंत्री जी के मोदी केयर (पीएम जय योजना) से यहाँ के जरूरतमंदों तक पांच लाख तक का इलाज मुफ्त मिलने की योजना ऐतिहासिक है.
बात चाहे प्रदेश के पहुंचविहीन क्षेत्रों तक धूएं से मुक्ति दिलाने के लिए उज्ज्वला योजना के तहत गैस वितरण की हो, या फिर प्रदेश की महिलाओं-छात्रों तक पचास लाख स्मार्ट फोन पहुचाने की. बस्तर जैसे पिछड़े माने जाने वाले क्षेत्रों में जिस तरह विकास की गंगा बह रही है. जैसा रोड-रेल-बिजली-फोन-हवाई सेवा से जिस तरह बस्तर-सरगुजा जैसे क्षेत्र जुड़ रहे हैं, प्रदेश के छात्रों-महिलाओं-किसानों-युवाओं के लिए जितने कार्य इस सरकार ने किये हैं उसके बारे में आप सब ज्यादा बेहतर जानते हैं.
अफसोस यह है कि छत्तीसगढ़ में भी कांग्रेस विपक्ष की भूमिका निभाने में भी बुरी तरह विफल साबित हुई है. भाजपा आज पंद्रह वर्ष के बाद भी जनता के सामने सभी सवालों का जवाब देने के लिए तैयार है लेकिन कांग्रेस के पास आपराधिक षड्यंत्र के अलावा और कुछ है ही नहीं.
जिस तरह से कांग्रेस ने देश भर में प्रदेश को शर्मसार किया है वह दुखद है. एक राष्ट्रीय पार्टी का प्रदेश अध्यक्ष आज अश्लील सीडी बनाने के अपराध में चार्जशीटेड है, जमानात पर जेल से बाहर है, ऐसी पार्टी को कोई नैतिक हक नहीं है सार्वजनिक जीवन में कार्य करने का.

भारतीय जनता पार्टी जब सत्ता में रहते हुए भी विकास यात्रा आदि के माध्यम से अपने कार्यों का हिसाब दे रही थी, तब विपक्ष के रूप में कांग्रेस अपनी सारी उर्जा माताओं-बहनों को अपमानित करने वाला सीडी बनाने में लगा रही थी. कांग्रेस आज विपक्ष के रूप में भी पूरी तरह अप्रासंगिक हो गयी है. अपार बहुमत के साथ डा. रमन सिंह जी की सरकार का सत्ता में आना तय है.