परिवर्तन की अधूरी यात्रा को और परिवर्तन के अधूरे काम को पूरा करने का कांग्रेस के एक-एक कार्यकर्ता का संकल्प

शहीदों के परिवर्तन की अधूरी यात्रा को और परिवर्तन के काम को भी पूरा करने के लिये कांग्रेस का एक-एक कार्यकर्ता संकल्पित है। संकल्प यात्रा की शुरूआत में जीरम में छत्तीसगढ़ प्रभारी पी.एल. पुनिया ने कहा कि ‘‘अधूरी छूटी परिवर्तन यात्रा को अब हम परिवर्तन के संकल्प को रेखांकित करते हुये संकल्प यात्रा के रूप में पूरे प्रदेश में जारी रखेंगे। परिवर्तन की अधूरी यात्रा को और परिवर्तन के अधूरे काम को पूरा करने का कांग्रेस के एक-एक कार्यकर्ता का संकल्प है।’’ जीरम से केशलूर होते हुये जगदलपुर संकल्प यात्रा आज जगदलपुर पहुंचे।
26 मई को संकल्प यात्रा पहले बस्तर फिर नारायणपुर, फिर कोण्डागांव पहुंचेगी। 27 मई को संकल्प यात्रा केशकाल, कांकेर और भानूप्रतापपुर जायेगी।  प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल, कांग्रेस विधायक दल के नेता टी.एस. सिंहदेव सहित छत्तीसगढ़ प्रभारी पी.एल. पुनिया, प्रभारी सचिव अरूण उरांव, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष धनेन्द्र, पूर्व मंत्री सत्यनारायण शर्मा, राज्यसभा सांसद छाया वर्मा, पूर्व सांसद करूणा शुक्ला, संचार विभाग के सदस्य राजेन्द्र तिवारी सहित अनेक वरिष्ठ नेता ने संकल्प यात्रा के वाहन से ही यात्रा कर रहे है।
झीरम घाटी नक्सली हमला में शहीद नेताओं एवं जवानों को श्रद्धांजली देने कांग्रेस नेतागण बस्तर संभाग पहुंचे। मां दंतेश्वरी की पूजा अर्चना के बाद फरस पाल गांव पहुंचकर शहीद महेन्द्र कर्मा की मूर्ति पर माल्यापर्ण किया। फिर वहां से झीरम घाटी पहुंचकर बलिदानी भूमि को प्रणाम कर कांग्रेस की संकल्प यात्रा शुरू हुयी। केशलूर में चित्रकोट विधानसभा स्तरीय प्रशिक्षण शिविर में शामिल हुये।
परिवर्तन यात्रा में निकले नेताओं की झीरम घाटी में षडयंत्र पूर्वक हत्या कर दी गयी और परिवर्तन यात्रा थम गयी। उस अधूरी परिवर्तन यात्रा एवं शहीद नेताओं के सपने को पूरा करने कांग्रेस ने झीरम घाटी कांड की पांचवी बरसी पर शहादत स्थल से संकल्प यात्रा शुरू कर राज्य से भाजपा सरकार को उखाड़ फेकने का संकल्प लिया। झीरम घाटी से शुरू हुयी संकल्प यात्रा का पहला पड़ाव केशलूर था। जहां परिवर्तन यात्रा का कार्यक्रम होना था वहां पर संकल्प शिविर का आयोजन किया गया। चित्रकोट विधानसभा स्तरीय प्रशिक्षिण कार्यक्रम हुआ।
संकल्प शिविर को संबोधित करते हुए अखिल भारतीय  कांग्रेस  कमेटी के महासचिव एवं छत्तीसगढ़ प्रभारी पी.एल. पुनिया ने कहा कि आज इस संकल्प शिविर के माध्यम से हमें कांग्रेस की विजय यात्रा का संकल्प लेना है। इस कार्य हेतु हम बूथ, पाराटोला के हिसाब से अध्यक्षों की नियुक्ति की गयी। जिससे वह नियोजित तरीके से कार्य कर सके। इस शिविर के माध्यम से कांग्रेस की विचारधारा को आम जनता तक पहुंचाना है।
उन्होनें कहा कि झीरम की घटना नक्सली हमला नहीं बल्कि एक राजनैतिक साजिश है जिससे काग्रेस का शीर्ष नेतृत्व समाप्त हो गया है जिसकी भरपाई नहीं हो सकती । उन्होनें कहा कि राहुल गंाधी जी का मानना है कि शहीद नंद कुमार पटेल और महेन्द्र कर्मा जी मतें कंाग्रेस की विचारधारा परिलक्षित होती थी। शिविर के इस आयोजन के बाद भविष्य में राहुल गंाधी जी बूथ लेवल के कार्यकर्ता से सीधा संवाद करेंगे।
झीरम कांड की पांचवीं बरसी पर संकल्प यात्रा की शुरूवात करते हुये प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल ने कहा कि हम शहादत की मिट्टी को नमन करते हुए इस संकल्प यात्रा की शुरूआत कर रहे हैं। झीरम कांड कोई साधारण नक्सली हमला नहीं था बल्कि एक बड़ा राजनीतिक षडयंत्र था। ये षडयंत्र उन लोगों ने रचा जिनको इससे फायदा होना था। जाहिर है कि फायदा भाजपा और रमन सिंह जी को हुआ। इसलिए वे सीबीआई की जांच नहीं करवा रहे हैं। रमन सिंह सीडी के मामले की जांच तुरंत सीबीआई को भेजते हैं लेकिन 36000 करोड़ के नान घोटाले को वे सीबीआई को नहीं सौंपते क्योंकि उसमें सी एम मैडम का नाम है। वे प्रियदर्शिनी बैंक घोटाले में मुख्य अभियुक्त ने नार्को टेस्ट में कहा कि रमन सिंह तो एक करोड़ दिया, बृजमोहन अग्रवाल, राजेश मूणत और राम विचार नेताम का नाम लिया, लेकिन जांच नहीं हुई। जो कि परिवर्तन की साक्षी बनेगी हमारे पुरखों का सपना था कि छत्तीसगढ़ एक समृद्ध राज्य बने पर भाजपा के शासन काल में किसान, मजदूर और गरीब, गरीब होता जा रहा है प्रदेश में नाॅन घोटाला, इंदिरा प्रियदर्शिनी घोटाला जैसे अन्य घोटालों की सीबीआई जंाच की मंाग पर भाजपा सरकार मौन है प्रदेश में सर्वत्रा भय, भूख और भ्रष्टाचार का माहौल है। झीरम की घटना भाजपा को लाभ पहुंचाने के लिए की गई एक गहरी साजिश है  कांग्रेस  के शासन में आने पर इसकी सीबीआई जंाच करवायी जायेगी।

Advertisement

सभा को संबोधित करते हुए नेता प्रतिपक्ष विधानसभा टी.एस. सिंहदेव ने कहा कि भाजपा सरकार घर घर में मोबाईल बांटकर ग्रामीणों को दिग्भ्रमित कर रही है इसलिए इस संकल्प शिविर की बहुत महत्ता है। इसे हमें गंभीरता से जानकारी प्राप्त कर उसे ग्रामीणजनों तक पहुंचाता है, क्योंकि वर्तमान भाजपा सरकार झूठे वायदों और ठगी करने वालों की सरकार है जिन्होनें ग्रामीणों के साथ महुआ, इमली चिंरौजी के नाम पर खूब धोखधड़ी की है। उन्होने राहुल गंाधी के शक्ति एप से जुड़ने की अपील की। सभा को उप नेता प्रतिपक्ष कवासी लखमा, पूर्व सांसद करूणा शुक्ला ने भी संबोधित किया।
इस सभा में विधायक धनेन्द्र साहू, सत्यनारायण शर्मा, सांसद छाया वर्मा, पूर्व विधायक प्रतिमा चन्द्राकर, महिला काग्रेस अध्यक्ष फूलो नेताम, छविन्द्र कर्मा, श्री निवास गोमासे अजय साहू, आर.पी. सिंह सहित बड़ी संख्या में ग्र्रामीण जन उपस्थित थे।
झीरम घाटी से शुरू हुई कांग्रेस की संकल्प यात्रा बस्तर संभाग का पहला संकल्प शिविर केशलूर में हुआ। जिसमें छत्तीसगढ़ प्रभारी पी.एल. पुनिया, छत्तीसगढ़ प्रभारी सचिव अरूण उरांव, चंदन यादव, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल, नेता प्रतिपक्ष टी.एस. सिंहदेव, सहित वरिष्ठ नेतागण शामिल थे।