राजनांदगांव पर बाहरियों ने राज किया, काज नही। राजनांदगांव को काजनंदगांव बनाऊंगा।

मैं गरीब लेकिन जनता के करीब :  दीपक यादव

एक 24 घंटे नही रहा, दूसरा 10 सालों में 24 दिन नही रहा, मैं नानगांव की मिट्टी में पैदा हुआ, उसके संग खेलकर बड़ा हुआ और 24 साल में पार्षद बना।

जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) ने आज राजनांदगांव से, स्थानीय लोकप्रिय युवा पार्षद दीपक यादव को अपना प्रत्याशी घोषित किया। दीपक यादव ने कहा कि राजनांदगांव को राज करने वाले मुख़्यमंत्री की नही, काज करने वाले विधायक की जरूरत है जो राजनांदगांव में रह कर लोगों के बीच रहकर, उनकी समस्याओं का निराकरण कर सके। माननीय अजीत जोगी जी ने एक गरीब, स्थानीय और यादव समाज के युवा को आगे बढ़ने का मौका दिया है। मैं गरीब हूँ लेकिन जनता के सबसे ज्यादा करीब हूँ।

भाजपा और कांग्रेस प्रत्याशियों के विषय में जेसीसीजे के युवा प्रत्याशी दीपक यादव ने कहा कि कांग्रेस प्रत्याशी अपने राजनीतिक इतिहास में 24 घंटे राजनांदगांव में नही रही। भाजपा प्रत्याशी मुख्यमँत्री अपने दस साल के कार्यकाल में 24 दिन राजनांदगांव में नही रहे। जबकि मैं पैदा राजनांदगांव की मिट्टी में हुआ और इसी मिट्टी की जनता ने मुझे एक सक्षम युवा बनाकर, 24 साल की आयु में अपना पार्षद बनाया। मेरे काम की वजह से फिर दुसरीं बार जनता ने मुझे पार्षद बनाया। दीपक ने कहा कि राजनांदगांव को बाहरी भतीजी , भांजा, मुखिया नही बल्कि स्थानीय युवा चाहिए जो कठिन परिश्रम कर, जनता के बीच रहकर उनकी समस्याओं का निदान कर सके।

क्षेत्र की समस्यों के विषय में युवा प्रत्याशी दीपक यादव ने कहा कि दस सालों में मुख्यमंत्री के विधायक रहते हुए भी राजनांदगांव में मूलभूत
विकास हुआ ही नही है। कोई नही कह सकता कि ये मुख्यमँत्री का विधानसभा क्षेत्र है। नल, पानी, नाली, बिजली हर वार्ड और पंचायत में समस्याएं यथावत बनी हुई है।

जेसीसीजे ने कहा कि गरीब वर्ग और समाज के युवाओं को आगे बढ़ाने के उद्देश्य से दीपक यादव को प्रत्याशी बनाया गया है। दीपक मेहनती और कर्मठ युवा हैं , यादव हैं, स्थानीय हैं और राजनांदगांव से लोगों द्वारा चुने गए पार्षद हैं। गौमाता और जनता के आशीर्वाद से वो अवश्य इस बार मुख्यमँत्री को पटखनी देंगे और छत्तीसगढ की राजनीति में एक नया इतिहास लिखेंगे।