एकात्म परिसर में मीडिया  से रूबरू हो बगावत की चर्चा पर विराम लगाया

वैशाली नगर विधानसभा सीट से भारतीय जनता पार्टी  की टिकट के दावेदार राकेश पांडेय ने पार्टी से बगावत कर निर्दलीय चुनाव लडऩे की अटकलों पर यह कहकर पूर्ण विराम लगा दिया कि वह 30 वर्षों से भाजपा-परिवार का सदस्य हूं और अंतिम सांस तक पार्टी  की सेवा करता रहूंगा। पांडेय गुरुवार को पार्टी के एकात्म परिसर में मीडिया से रू-ब-रू हुए।

भाजपा नेता पांडेय ने वैशाली नगर विस क्षेत्र से लोकतांत्रिक प्रक्रिया का पालन करते हुए संवैधानिक तरीके से अपनी बातें रखने की बात कही। उन्होंने कहा कि वैशाली नगर विस क्षेत्र के कार्यकर्ताओं एवं जनता की लोकतांत्रिक तरीके से उठाई गई मांग  के चलते वैशाली नगर क्षेत्र से मेरी स्वाभाविक दावेदारी बनती है। पार्टी द्वारा बंद डिब्बे में कार्यकर्ताओं की मंशा जानने की प्रक्रिया के परिणाम भी यही कहते हैं। इससे परे जाकर किसी भी  निर्णय पर मेरी सैद्धांतिक  असहमति थी। लेकिन बगावत, विरोध या पार्टी छोडऩे जैसी कोई बात नहीं है।
पांडेय ने कहा कि 30 वर्षों से पार्टी  के साथ रहकर जनता के बीच सेवा  करने के चलते  ही मेरी दावेदारी की अपेक्षा थी जो कार्यकर्ताओं के आक्रोश के रूप में सामने आई है। उन्होंने कहा कि पार्टी के निर्णय का सम्मान करते हुए वरिष्ठ नेताओं के मार्गदर्शन में वैशालीनगर से पार्टी की जीत के लिए कार्य करेंगे। अन्य हजारों कार्यकर्ताओं की भी यही भावना है।