राहुल गांधी ने भाजपा प्रायोजित भय के वातावरण पर तगड़ा प्रहार किया

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के प्रदेश व्यापी धुंआधार कार्यक्रमों से आज प्रदेश में सत्ता परिवर्तन की लहर और कांग्रेस के प्रति सकारात्मक वातावरण साफ दिखा। प्रदेश कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि रायपुर के पंचायती राज प्रतिनिधियों के सम्मेलन में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अपने उद्बोधन में समूचे देश की भावनाओं को आवाज दिया। राहुल गांधी के बेबाक उद्बोधन से यह साफ हो गया कि ‘‘राहुल गांधी भारत के लोकतंत्र के मजबूत प्रहरी है।’’ उन्होने देश भर में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी सरकार द्वारा प्रायोजित ‘‘भय के वातावरण’’ पर भी तगड़ा प्रहार कर देश के लोगों में एक आशा की किरण का संचार किया। उन्होने सरगुजा के सीतापुर और कोटमी की सभाओं में किसान और आदिवासियों के शोषण के खिलाफ आवाज उठाया।

Advertisement

राजधानी रायपुर में आयोजित राजीव गांधी पंचायती राज संगठन का जन स्वराज सम्मेलन में पंचायती राज के प्रतिनिधियों का उत्साह के साथ सरगुजा के सीतापुर की सभा में उमड़ा डेढ़ लाख से अधिक किसानों और जनसमुदाय का हुजूम, कोटमी के जंगल सत्याग्रह में उमड़ा एक लाख से अधिक आदिवासियों का एकत्रित होना, इस बात का द्योतक है कि लोग राहुल गांधी के ‘‘वक्त है बदलाव’’ के नारे साथ एकजुट होकर खड़े हो रहे है। छत्तीसगढ़ की जनता राज्य की भाजपा सरकार के कुशासन, भ्रष्टाचार से त्रस्त हो गयी है, वह भारतीय जनता पार्टी और उसके सहयोगियों के नापाक गठबंधन के बहकावे में नहीं आने वाली। लोग छत्तीसगढ़ में बदलाव चाहते है, लोग चाहते है छत्तीसगढ़ में भ्रष्टाचार, कमीशनखोरी, अराजक सरकार का अंत हो।