आदिवासी, वानांचल क्षेत्रो के अधिकारो जल जंगल जमीन की लड़ाई हम सब मिलकर लड़ेंगे – राहुल गांधी

2
159

कोटमी में गरजे राहुल गाँधी, कहा – “केंद्र में सरकार बनते ही किसानों का कर्ज माफ”

कोटमी में सभा को संबोधित करते हुए अखिल भारतीय काँग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी बीजेपी सरकार पर जमकर बरसे। राहुल ने कहा कि, “केंद्र में सरकार बनते ही उनका सबसे पहला काम किसानों का कर्ज माफ करना होगा”।
कोटमी में आयोजित सभा को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि, “किसान और आदिवासियों में इतनी शक्ति है कि, वो पूरे देश की तस्वीर बदल सकते हैं, लेकिन सरकारें किसानों का शोषण करती हैं। राहुल ने कहा कि, “केंद्र में सरकार बनते ही हमारा पहला काम किसानों का कर्ज माफ करना होगा”।
बीजेपी सरकार पर बरसे राहुल
राहुल ने बीजेपी सरकार पर बरसते हुए कहा कि, “जहां भी बीजेपी की सरकार है वहां गरीबों के हित में कोई कानून इम्प्लीमेंट नहीं होता। वहीं 15 लाख रुपए खाते में आने के जुमले पर राहुल ने तंज कसते हुए पूछा कि कहां हैं 15 लाख रुपए”।
राहुल गांधी ने कहा कि, श्निजी स्कूल और अस्पताल में लूटने की संस्कृति चल रही है और इसी संस्कृति को बदलने के लिए हम आपके लिए लड़ाई लड़ रहे हैं। देश में सिर्फ 10-15 अमीर लोग खुश हैं।
Advertisement
इसके पहले मंच पर पहुंचते ही छत्तीसगढ़ के कांग्रेस नेताओं ने राहुल गांधी का गर्मजोशी से स्वागत किया। इसके बाद राहुल गांधी ने सबसे पहले गोंडवाना गणतंत्र पार्टी के प्रमुख हीरा सिंह मरकाम को गले लगाया। मरकाम को राहुल के बाजू में जगह दी गई है।
तैयार किया गया डोम
राहुल गांधी के जंगल सत्याग्रह-आदिवासी किसान सम्मेलन के लिए पूर्व केन्द्रीय राज्यमंत्री व छत्तीसगढ़ इलेक्शन कैम्पेन कमेटी के चेयरमैन डॉ. चरणदास महंत की देखरेख में पिछले तीन दिनों से वृहद तैयारियां की गई थी। राहुल की सभा के लिए 90 हजार वर्गफीट का डोम तैयार किया गया था। सभा में 26 हजार कुर्सियां भी लगवाई गईं थी। सभा में 60 हजार से अधिक लोगों के शामिल होने के आधार पर तैयारी थी। इस सभा में खास बात ये भी थी कि, पहली बार विशालकाय मंच पर राहुल गांधी के साथ कांग्रेस के दिग्गज नेताओं सहित 30 लोगों ने मंच साझा किया।
मई महीने की चिलचिलाती धूप में भी दूर-दूर से गांव की महिलाएं, पुरुष, बुजुर्ग, युवा लोग राहुल गांधी की एक झलक देखने और उन्हें सुनने के लिए ललायित हैं। हम आपको बता दें कि देश की आजादी के बाद से आज तक यह कांग्रेस की परंपरागत सीट रही है। इस क्षेत्र के लोग गांधी-नेहरू परिवार के लोगों के प्रति काफी आस्था रखते हैं। यही कारण है कि गांधी-नेहरू परिवार के राहुल गांधी को देखने के लिए गांव का गांव कोटमी में उमड पड़े।
इसके साथ ही राहुल की सभा में गोंडवाना गणतंत्र पार्टी और एकता परिषद कांग्रेस के साथ दिखी। दोनों संगठनों के अध्यक्ष अपने हजारों कार्यकर्ताओं के साथ राहुल की सभा में मौजूद रहे। इसके साथ ही राहुल की सभा में पीसीसी अधयक्ष भूपेश बघेल,नेताप्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव पूर्व केंद्रीय मंत्री डॉ.चरणदास महंत, कार्यकारी अध्यक्ष रामदयाल उइके, विधायक जयसिंह अग्रवाल, मोतीलाल देवांगन, उमेश पटेल, दिलीप लहरिया, चुन्नीलाल साहू, समेत कई नेता कोतमी मौजूद रहे।

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here