भिलाई स्टील प्लांट में घटित दुर्घटना की विभागीय जांच और प्लांट के सीईओ पर एफआईआर दर्ज हो : अमित जोगी

1
18

– संचालक, औद्योगिक स्वास्थ्य एवं सुरक्षा विभाग को लिखा कड़ा पत्र
– प्लांट में उपकरणों का  रखरखाव नहीं
– बीएसपी प्रबंधन ने किया दर्जनों परिवारों को बेसहारा
– बीएसपी प्रबंधन ने फैक्ट्री एक्ट, श्रम कानून आदि के सभी प्रावधानों को रखा ताक पर
– कड़े कदम नहीं उठाने पर दुर्घटना की पुनरावृत्ति होने की जताई आशंका

मरवाही विधायक अमित जोगी ने भिलाई स्टील प्लांट में दिनांक 09 अक्टूबर 2018 को घटित दुर्घटना की विभागीय जांच किये जाने और प्लांट के सीईओ पर एफआईआर दर्ज किये जाने की मांग की है। इस संबंध में उन्होंने संचालक, औद्योगिक स्वास्थ्य एवं सुरक्षा विभाग, श्रम मंत्रालय, छत्तीसगढ़ शासन को पत्र भेजा है। पत्र में जोगी ने संचालक को लिखा है कि उन्हें प्राप्त जानकारी अनुसार इस हादसे का मुख्य कारण बीएसपी प्रबंधन द्वारा प्लांट में रखरखाव के कार्यों विशेषकर प्रिवेंटिव मेंटेनेंस में कोताही बरती जाना है।यदि प्लांट के सभी उपकरणों का नियमित रखरखाव किया जाता तो समय रहते उपकरण में खराबी का पता चल जाता और इस दुर्घटना को रोका जा सकता था। लेकिन ऐसा न कर बीएसपी प्रबंधन ने अपने कर्मचारियों की जान से खिलवाड़ कर दर्जनों परिवारों को बेसहारा कर दिया। जोगी ने भविष्य में भी ऐसी दुर्घटनाओं की आशंका जताते हुए लिखा है कि यदि बीएसपी प्रबंधन ने प्लांट में तत्काल रखरखाव के कार्य शुरू नहीं किये तो ऐसी दुर्घटनाओं की पुनरावृत्ति होने की संभावना भविष्य में भी रहेगी।
औद्योगिक स्वास्थ्य एवं सुरक्षा विभाग को अपनी जिम्मेदारियों का स्मरण करवाते हुए अमित जोगी ने संचालक को लिखा है कि इस विभाग का मुख्य उद्देश्य फैक्ट्री एक्ट, श्रम कानून आदि के प्रावधानों को कड़ाई से लागू करवाकर फैक्ट्रियों तथा अन्य संस्थाओं में काम कर रहे श्रमिकों की सुरक्षा, स्वास्थ्य, कार्य दशा और कल्याण सुनिश्चित करवाना है। भिलाई स्टील प्लांट में घटित दुर्घटना में इन सभी प्रावधानों को प्रबंधन द्वारा ताक पर रखा गया है। अमित जोगी ने विभाग के संचालक से मांग करी है कि विषय की गंभीरता को देखते हुए मामले की निष्पक्ष विभागीय जांच करवाई जाए और दुर्घटना की पुनरावृत्ति रोकने के लिए कड़े कदम उठाये जाएँ। साथ ही सुरक्षा मानकों में कोताही बरत कर प्लांट के कर्मचारियों की जान से खिलवाड़ करने के गंभीर अपराध के लिए भिलाई स्टील प्लांट के मुख्य कार्यपालन अधिकारी (सीईओ) पर एफआईआर दर्ज की जाए। अमित जोगी ने आशा करी है कि प्लांट में कार्यरत श्रमिकों की सुरक्षा को देखते हुए संचालक इस विषय पर त्वरित निर्णय लेंगे।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here